May this Chhath Puja bring

Blessings and happiness your way

May all your dreams come true

And all evils shed away.

Happy Chhath Puja.

छठ पूजा आयें बनके उजाला,

खुल जाएँ आप की किस्मत का ताला,

हमेशा आप पर रहे मेहरबान ऊपर वाला,

यहीं दुआ करता है आपका ये चाहने वाला

आपकी आँखों में सजे है जो भी सपने

और दिल में छुपी है जो भी अभिलाषाए

छठी मैया के आशीर्वाद से सच हो जाएँ

आपके लिए यही है मेरी शुभकामनाएं

पूरे परिवार सहित आपको छठ की शुभकामना

एक पुरे साल के बाद,

छठ पूजा का दिन आया है,

सूर्य देव को नमन कर,

हमने इसे धूम धाम से मनाया है,

छठ पूजा की शुभकामनाएँ

छठ का है आज पावन दिन,

मिलकर मनाओ प्यारा त्योहार,

आज करो सूर्य देव की पूजा

कोयल जब गीत सुनाती है,

हर दिल मधुर हो जाती है,

छठ माँ जब प्यार बरसाती है,

सबके जीवन में खुशियां खिल जाती है 


छठ का त्योहार आया है,

खुशियाँ ही खुशियाँ लाया है,

धन-धान्य से भरा रहे खेत खलिहान,

सूर्य के प्रकाश से सब जगमगाया है.

छठ पूजा की शुभकामनाएँ

छठ का आज है पावन त्यौहार

सूरज की लाली माँ का हैं उपवास

जल्दी से आओ अब करो न विचार

छठ पूजा का खाने तुम प्रसाद

हैप्पी छठ पूजा

 छठ का है आज पावन दिन,

मिलकर मनाओ प्यारा त्यौहार,

आज करो सूर्य देव की पूजा!

हैप्पी छठ पूजा..!

आया है भगवान सूर्य का रथ,
आज हे मनभावन सुनहरी छठ,
और मिले आपको सुख संपति अपार….
छठ की शुभकामनाये करे स्वीकार…..



सात घोड़ों की है जिनकी सवारी,

न कभी रुके, न कभी देर करे,

ऐसे ही हमारे सूर्यदेव,

आओ मिलकर करें इस छठ पर उनकी पूजा,




 ना मिल्न की खुसी होली                 

 ना बिछुडन कु गम                    

 उदास छा हम कन के बतान की कन छीन हम

हैसंण उईक कमाल होय,

हिटौंण एकदम गजब

बुलांण में मिसिर घुली

चाहिये रै जानी सब….

ना तू ‘हां’ करछै

ना तू ‘ना’ करछै

अधपगल है गोयू मैं

आघिन पत्त ने के करछै।।

हे भैजि, ……कख़ा छिन्न।

ब्योडु तिमला पक्यां छिन्न।

ब्याळि ओन्दा…खीर खंदा,

आज भैंसा… थक्यां छिन्न।

ख्याल त्येरू मैं दगडी दिन रात रेंदू.

मन ब्वोदू हाथों माँ त्येरू हाथ चेंदू.

जिकुड़ी करदी धड़क धड़कब मिलली त्येरी एक झलक.

त्येरी मुखडी द्येखी ही त औंदी

म्येरी मुखड़ी मां चमक धमक.त्वे मिलण कु मनमा भारी कबलाट रेंदू.

ख्याल त्येरू मैं दगडी दिन रात रेंदू

क,


सौदा नी ब्योपार नी।

यु नकद नी उधार नी।

माया बस माया होंदी

माया कैकि भी चार नी।।


उइल प्यारल कौ आंखू मे चहाओ

के आंण लै रौ नजर

मील कौ पैलि आंख साफ कर

गिधड़ लै रयी गिधड़…..