कर गुजर गये वो भीम थे

दुनिया को जगाने वाले भीम थे

हमने तो सिर्फ इतिहास पढा है यारो

इतिहास बनाने वाले मेरे भीम थे

Happy Ambedkar Jayanti


पैदा ना होता वो मसीहा तो खुशियों का सिलसिला नहीं होता

बे रंग रहती ये ज़मी और आसमान का रंग नीला नहीं होता

भारत तो कब का कंगाल हो जाता यारो

अगर भीम राव आंबेडकर जैसे हीरा मिला नहीं होता

बाबा तेरी कलम के बल हम राज करते है

तेरी करनी पे बाबा हम नाज करते है

बदलेगा वक्त ओर जमाना भी

जय भीम के उदघोष से ये आगाज करते है

Happy Ambedkar Jayanti

ममता,करणा और समता जिसका है आधार

हमारी उजाड़ी जिन्दगी में ला दी बाबा साहेब ने बहार

हमारी आजादी की कहानी लिखी हमारे भीम ने

खुशियों भरा सजाया हमारा संसार भीम ने

Happy Ambedkar Jayanti

आज का दिन है बड़ा महान

बनकर सूरज चमका एक इंसान

कर गये सबके भले का ऐसा काम

बना गये हमारे देश का संविधान

Happy Ambedkar Jayanti

गरज उठे गगन सारा,

समुन्दर छोडें आपना की नारा,

हिल जाए जहान सारा,

जब गूंजे “जय भीम” का नारा।

Happy Ambedkar Jayanti

कुरान कहता है मुसलमान बनो

बाइबल कहता है ईसाई बनो

भगवत गीता कहती है हिन्दू बनो

लेकिन मेरे बाबासाहेब का

संविधान कहता है मनुष्य बनो

आंबेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

ना ‘जिंदगी’ की खुशी ना ‘मौत’ का गम

जब तक है दम ”जय भीम” कहेंगे हम

Happy Ambedkar Jayanti

पैदा ना होता वो मसीहा तो खुशियों का सिलसिला नहीं होता

बे रंग रहती ये ज़मी और आसमान का रंग नीला नहीं होता

भारत तो कब का कंगाल हो जाता यारो

अगर भीम राव आंबेडकर जैसे हीरा मिला नहीं होता

Happy Ambedkar Jayanti

दुनिया को जगाने वाले भीम थे

कर गुजर गये वो भीम थे

हमने तो सिर्फ इतिहास पढा है यारो

इतिहास बनाने वाले मेरे भीम थे

Jai Bhim – जय भीम

गरज उठे गगन सारा,

समुन्दर छोडें आपना की नारा,

हिल जाए जहान सारा,

जब गूंजे “जय भीम” का नारा।

खाली नाम के यहा पर कितने भगवान हो गये……….

लेकीन एकही भीम के करम से आज हम इन्सान बन गये……….

जिन्हे चलना, संभलना याद न था….

आज धूल से उठकर आसमान बन गये …….

ये मेरे भीम बाबा हमको है बचाया तुमने…..

अरे ठुकराया था उस दुनिया ने…..

तो पहले गले से लगाया तुमने.

जब भीम थे चलते तो हजारों दिल मचलते

भीम जब रुकते तो तूफ़ान है रुक जाते

इतने काबिल थे बाबा की कभी इरादा न बदला

बाबा भीम ने तो सारा इतिहास बदल डाला

बाबा तेरी कलम के बल हम राज करते है।

तेरी करनी पे बाबा हम नाज करते है।

बदलेगा वक्त ओर जमाना भी।

जय भीम के उदघोष से ये आगाज करते है।

भारत के जनसागर मे भीम सा कोई तारा नहीं

और बोधिवृक्ष से बढकर पेढ इतना कोई हरा नहीं

मानवता का जो ज्ञान धम्मग्रंथ में लिखा है

वैसा और कोई मजहब के ग्रंथ में भरा नाहीं

हमने देखे है इस देश के नेता मरे इसी देश के लोगो के हाथो

लेकिन मेरा भीमराव आंबेडकर किसी के बंदूक की गोली से मरा नहीं।

Happy Ambedkar Jayanti


एस एम एस भेजण दा नहीं सी शौंक साणूं

तेरी याद ने मोबाइल फड़ा दित्ता

मैसेज लिखदे लिखदे स्पेस मुक्की

अस्सी ओवरराइट अलाउड ला दित्ता

यारा मेरेया मैसेज रिप्लाइ करीं

अस्सी अपणा फर्ज निभा दित्ता

हैप्पी बैसाखी

Just as a new bloom spreads fragrance and freshness around.

May the new year add a new beauty, freshness into your life.

Happy Baisakhi