alt

फिज़ा में महकती शाम हो तुम,

प्यार ? में झलकता ज़ाम हो तुम,

सीने में छुपाये फिरते है हम यादें तुम्हारी…

इसलिये मेरी जिंदगी का दूसरा नाम हो तुम…?

हैप्पी प्रपोज़ डे 


Related Posts
<h4>Loading...</h4>
Copyrights © 2022