alt

नर सम अधिकारिणी है नारी

वो भी जीने की अधिकारी

कुछ उसके भी अपने सपने

क्यों रौंदें उन्हें उसके अपने

Happy Womens Day


Related Posts
<h4>Loading...</h4>
Copyrights © 2022