alt

रुतबा मेरे सर को तेरे संविधान से मिला है

ये सम्मान भी मुझे तेरे संविधान से मिला है

औरो को जो मिला है वो मुकदर से मिला है

हमें तो मुकदर भी तेरे संविधान से मिला है

ना ‘जिंदगी’ की खुशी ना ‘मौत’ का गम

जब तक है..दम..”जय भीम” कहेंगे हम….!!!

Related Posts
<h4>Loading...</h4>
Copyrights © 2022