alt

ये शान ये शौकत और ये ईमान न होता

आज कोई इस देश में किसी का मेहमान न होता

नही मिल पाती खुशियां हमे इस वतन में

अगर इस देश का संविधान बाबा साहेब ने लिखा न होता

Happy Ambedkar Jayanti

Related Posts
<h4>Loading...</h4>
Copyrights © 2022