alt

फ़िज़ा में महकती शाम हो तुम.. 

प्यार में झलकता जाम हो तुम.. 

सीने में छुपाए फिरते है हम यादें तुम्हारी.. 

इसलिए मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हो तुम।

हैप्पी प्रोपोज़ डे 

Related Posts
<h4>Loading...</h4>
Copyrights © 2022