alt

अब तो ये हमारी आँखे भी हमसे सबाल करती हैं,

अब तो बस ख्यालों में ही ये रात कटती है,

जब तक हम आपको गुड नाईट न कह दे,

ये कम्बख्त नींद आने से इंकार करती है।

शुभ रात्रि

Related Posts
<h4>Loading...</h4>
Copyrights © 2022