मैं मजदूर हूँ मजबूर नहीं

यह कहने में मुझे शर्म नहीं

अपने पसीने की खाता हूँ

मैं मिटटी को सोना बनाता हूँ

मज़दूर दिवस की शुभकामनायें

Similar posts

मैं मजदूर हूँ मजबूर नहीं

यह कहने में मुझे शर्म नहीं

अपने पसीने की खाता हूँ

मैं मिटटी को सोना बनाता हूँ

मज़दूर दिवस की शुभकामनायें