आप को जश्न-ए-ईद-मिलाद-उन-नबी मुबारक हो;

अल्लाह ताल्लाह हम सब को सीधी राह पर

चलने की तौफ़ीक़ अता फ़रमायें।

ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मुबारक हो!

दुनिया की हर फ़िज़ा में उजाला रसूल का

ये सारी क़ायनात सदका रसूल का

खुशबू-ए-गुलाब है पसीना रसूल का

आप को भी हो मुबारक महीना रसूल का

ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मुबारक

खुशबू-ए-गुलाब है पसीना रसूल का

आप को भी हो मुबारक महीना रसूल का

ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मुबारक हो

वो अर्श का चरागाह है

मैं उस के क़दमों की धुल हूँ

ऐ ज़िंदगी गवाह रहना

मैं गुलाम-ए-रसूल हूँ

ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मुबारक हो

अल्लाह तआला हम सब को सीधी राह पर

चलने की तौफ़ीक़ अता फरमाये

आमीन

हैप्पी ईद-ए-मिलाद-उन-नबी

मदीने में ऐसी फ़िज़ा लग रही है

की जन्नत की जैसी हवा लग रही है

मदीने पहुँच कर जमीन को जो देखा

यह जन्नत का जैसे पता लग रही है

ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मुबारक हो

मुबारक मौका अल्लाह ने अता फ़रमाया

एक बार फिर बंदगी की राह पर चलाया

अदा करना अपना फ़र्ज़ खुदा के लिए

ख़ुशी से भरी हो मिलाद उन नबी आपके लिए

तेरी दीद जिसको नसीब हो वो नसीब खुश नसीब है

तेरी याद है, मेरी ज़िन्दगी तुझे देखना ही मेरी ईद है

ईद मिलाद-उन-नबी मुबारक