मैं तो स्मार्ट फोन को उस दिन स्मार्ट मानूंगा,….. जब मैं चिल्लाऊंगा- काँ छै रे म्यर फोन….? . . . . और मेरा फोन आवाज लगायेगा— याई छु रे …. याई छु…. तकीये तली बै देख। रणकारा कभै तो आराम करन दे मैंकैनी !!
मरणैक टैम पर परदाल सोचि खिमुलि कै सच्चाई बतै द्यु पर के करछा परदा कै मरणैक टैम अणकस्से जै है पड़ो… परदा :- सुण वे त्येर सुनैक जेवर मिल बेचि ! खिमुलि :- कोई बात ने हो ! परदा :- त्येर भैक दि एक लाख रूपै ले मिलै गायब करि ! खिमुलि :- मिल तुमकु माफ करि है .तुम लै माफ करि दिया, तुमकु जहर लै मिलै दे !!
खिमदा आजकल गौं छौड़बेर दिल्ली में रौनी….. एक दिन खिमदा सोच में डूबी भै, घरवाईल पूछा …….क्ये सोच में पड़ी रछा ? खिम दा- मैं कें यो सोच लाग रईं कि यौ टेलीबिजन वालूँ कैं कसिक पत्त चलिजां कि….. घरवाई- क्ये पत्त चलूँ ? खिम दा- यौ कौनी कि आप देख रहे हैं स्टार प्लस … इनूं कैं कसिक पत्त चलूँ, हम स्टार प्लस चैनल देखण लाग रयूं
खिमुली – य जो रोज तुम फैसबुक में रोमांटिक शायरी लिखछा कि, ये तेरी जुल्फे है जैसे की रेशम की डोर , ? य कैक लिजी लिखछा ? खीमदा – त्यर लीजी तो लिखनू मै लाटी ! और को भै मेरि जिंदगी में….??? खिमुली – पै कभते त रेशमे डोर अगर हरि साग में ए जाछि तो किले चिल्लाछा हो ! 🙂 🙂 🙂
वाइफ के गाल पर गुलाब का फूल मारने पर इंग्लिश वाइफ :- u are so noughty….. पंजाबी वाइफ :- “तुसी वड़े रोमेंटिक लगदे हो ….. गढ़वाली वाइफ :- मुर्दा मोरुलु तेरु…आंखू फोड़ेली छौ मेरु ..
एक पहाडी दम्पत्ति सैनि- हरकुवाक बाबू तौ चिट्ठी जसि कि लियख नार छा ; मैंस- हरकुवेकि इजा ठीक दियख नेर छी, चिट्ठी लियख नै रयों ; सैनि- तुमु कै लियखन ओने नै, कै हुनि लियख नार छा ? मैंस- तियार बाबू हुनि लियख नै रौ, उनु कै कौन सा पडन औं |
टीचर > हे गबरा क नौना ! बता उत्तराखंड में कतका बाँध छिना ? स्टुडेंट > गुरूजी… एक तो च छकना बांद , दुसर बांद Furki Baand, तीसरी च माया बांद!
बच्चे को सुलाती माँ- अंग्रेज- Good night son देशी माँ – सो जाओ बेटा, शुभ रात्रि कुमाँउनी माँ- सैजा रे नैहुन्या… आब त भूत ले सी गै हुनेला.
गों की बारात म चाहे कत्गा भी तीस मारखां आयां हो... पर रौला वेकु रेंदु... जेका अंडर म दारु बाटणे कोटा रेंदु... चार नौना अगने... अर चार पिछने घुमदन... :)
एक बात म्येरी समझ नि औंदीकि दारु का ठेका कु वास्तुशास्त्र कु करदू होलू...!!! चाहे नाला पर हो.. दक्षिण दिशा मा हो... समणी गड्डा हो.... बिजली कु ट्रांसफार्मर हो... या फेर क्वी भी वास्तु दोष हो... .... दुकानी पर भीड़.... बखरो सी लेन जन लगी रेंद,,,